Thursday, January 29, 2015

कॉस्मेटिक सर्जरी का कम होता क्रेज़

जी हां, सुंदर और आकर्षक बनने के लिए करवाई जाने वाली प्लास्टिक सर्जरी का देश में ..विशेषकर बड़े शहरों में कितना क्रेज़ है..इस का अनुमान लगाने के लिए हमें किसी अखबार के पन्नों को उलटना-पलटना होगा।

इतने इतने बड़े विज्ञापन अखबारों में छपते हैं......मरीज हैं तो ही तो छपते हैं, वरना कौन इतना खर्च करेगा।

लेकिन एक बात जो मुझे अकसर लगता है कि जो प्रैक्टिस अमीर देशों में रिजेक्ट होने लगती है वह हमारे यहां पर तूल पकड़ने लगती है।

आज भी सुबह देखा टाइम्स ऑफ इंडिया में कि किस तरह से प्लास्टिक सर्जरी की वजह से एक टीवी स्टार की ज़िंदगी बरबाद हो गई...मैंने उस का आनलाइन लिंक पेपर की साइट पर ढूंढना चाहा.. लेकिन नहीं मिला....गूगल से उस खबर का एक अन्य लिंक मिला जिसे यहां लगा रहा हूं... Botched plastic surgery sends TV star into septic shock. 

यह इस एक स्टार की बात नहीं है, हम क्या रोज़ाना टीवी पर नहीं देखते कि अच्छी भली दिखने वाली सिने-तारिकाएं कैसे प्लास्टिक सर्जरी करवाने के बाद अपने अच्छे भले थोबड़े को खराब करवा बैठती हैं...नाम लेने ठीक नहीं लगते, लेिकन आप ने ज़रूर नोटिस किया होगा.....अच्छे भले नाक थे कुछेक के, वे अजीब से हो गए, होंठ ठीक ठाक थे, वे अंदर की तरफ़ धंस गए...आदि आदि।

मैं जिस न्यूज़-रिपोर्ट की बात कर रहा हूं जब मैं उसे पढ़ रहा था तो मुझे यही लग रहा था कि शायद ही शरीर का कोई हिस्सा हो जिस पर प्लास्टिक सर्जरी का जादू चलना रह गया हो।

इस लिंक को भी ज़रूर देखिए...

प्लास्टिक सर्जरी की घटती लोकप्रियता की चर्चा एक ही जगह नहीं, कईं कईं जगह इस की खुल कर चर्चा हो रही है..कल ही बीबीसी न्यूज़ की साइट पर भी पढ़ने को मिला कि किस तरह से यू.के में प्लास्टिक सर्जरी का क्रेज़ कम होता जा रहा है....आप इस खबर को इस लिंक पर देख सकते हैं...Cosmetic Surgery 'Popularity Declines' 

यह पोस्ट केवल आप तक यह पहुंचानी के लिए थी कि अमीर देशों में कॉस्मेटिक सर्जरी की लोकप्रियता कितनी तेज़ी से कम हो रही है क्योंकि इस से कईं तरह की जटिलताएं उत्पन्न हो रही हैं। 

लेकिन प्लास्टिक सर्जरी केवल कॉस्मेटिक सर्जरी ही नहीं है या यूं कहें कि फिजूल की कॉस्मेटिक सर्जरी (on demand) जिसे एक उपभोक्ता डिमांड करता है और वह कर दी जाती है, अब प्लास्टिक सर्जन क्या सोचता है कि उसे उस सर्जरी की ज़रूरत है या नहीं या उसे वह प्रोसिज़र करवाने पर कुछ स्थायी या अस्थायी प्रभाव पड़ेगा, इन बातों में उलझने से कुछ हासिल नहीं होगा। 

लेकिन प्लास्टिक सर्जरी एक बहुत महत्वपूर्ण स्पेशलिटी है जिस में किसी मरीज़ के शरीर के फंक्शन को भी रिस्टोर किया जाता है... आग से झुलसे मरीजों मे चमड़ी सिकुड़ जाती है.. उन से निजात दिलाने वाले कौन ..प्लास्टिक सर्जन, नन्हे मुन्नों के तालू में सुराख, जन्म से कटे-फटे होंठ को ठीक करने वाला भी प्लास्टिक सर्जन.. कैंसर सर्जरी के बाद चेहरे की भयानक कांट-छांट को दुरूस्त कर के चेहरे को ठीक ठाक करने वाला भी प्लास्टिक सर्जन ही होता है...ऐसे अनेकों महान् काम भी प्लास्टिक सर्जन ही करता है.

जाते जाते पते की बात यह है कि जो भी काम आकर्षक बनने के नाम पर उम्र को कम दिखाने के चक्कर में करवाए जाते हैं... इन की भी गिनती बहुत है..वे सेहत से कैसे खिलवाड़ कर सकते हैं, हम ने देख लिया,  इसलिए सोच समझ कर इन चक्करों में पड़िए....

वैसे सुंदर और जवान दिखने वालों के लिए एक खुशखबरी है ...बिल्कुल ताज़ा-ताज़ा--- कल की ही खबर है कि डबल-चिन को खत्म करने के लिए भी एक इंजेक्शन आ गया है ... बस हम तक पहुंचने ही वाला है..




No comments:

Post a Comment